होम / पोस्ट

इस साल विधानसभा सत्र को लेकर सवाल, सत्र होगा या नहीं ?

देहरादून : देशभर के साथ राज्य में भी दिन-प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इसका असर सरकारी कामों पर भी नजर आने लगा है। कोरोना काल में 23 सितम्बर से विधानसभा का मानसून सत्र आयोजित किया जाना है, जिसकी तैयारियां भी चल रही हैं। लेकिन अब कुछ स्थितियों के कारण सत्र होने या न होने की अटकलें लगाई जा रही हैं। सरकार के लिए सत्र को टालना नामुमकिन सा नजर आ रहा है। परन्तु सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि सत्र टाला जा सकता है।

सरकार ने 23 से 25 सितम्बर तक विधानसभा सत्र आयोजित करने का फैसला लिया है। इसके बीच सत्र के लिए सबसे बड़ी परेशानी सदन में सदस्यों की बैठने की व्यवस्था को लेकर है। सदन में इतनी जगह नहीं है की कोरोना के नियमों को ध्यान में रखते हुए सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की जा सके। इसके अलावा मीडिया गैलरी के दौरान पत्रकारों के लिए पर्याप्त जगह कोरोना के नियमों के तहत नहीं हो पायेगी।

विधान सभा के अध्यक्षों की बात मानें तो सत्र आयोजन के लिए अन्य विकल्पों पर विचार किया जा रहा है। इसमें वर्चुअल सत्र का एक विकल्प शामिल है। दूसरा विकल्प सत्र के लिए कोई बड़ी जगह को लेकर है लेकिन उसमें खर्चे की दिक्कत सामने आ रही है। इन्हीं कारणों से यह सवाल उठ रहे हैं कि मानसून सत्र होगा या नहीं। इसके अलावा बात करें तो कई विधायक ऐसे हैं जो कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

राज्य में 25 मार्च को सत्र स्थगित हुआ था। नियमों के अनुसार सरकार को 6 महीने या 180 दिनों के अंदर सत्र लेना जरुरी है। जिसके चलते 25 सितम्बर से पहले हर हाल में सत्र का आयोजन करना होगा। ऐसा न होने पर सरकार के ऊपर संवैधानिक खतरा मंडराने लगेगा। ऐसे में कहा जाये तो हर हाल में सत्र का आयोजन करना ही होगा।

4586

0 comment

एक टिप्पणी छोड़ें