होम / पोस्ट

कोटद्वार में दिल्ली पुलिस ने नकली रेमेडिसिविर बनाने वाली फैक्टरी में मारा छापा, पांच आरोपी गिरफ्तार

कोटद्वार : एक ओर जहां पूरा देश अभी कोरोना महामारी से जूझ था है, वहीं दूसरी ओर कुछ लोगों पैसों के लिए जान का व्यापार कर रहे हैं। जहां पूरे देश में इंजेक्शन की किल्लत देखने को मिल रही है वही इस इंजेक्शन की कालाबाजारी भी जमकर हो रही है ।नकली जीवन रक्षक दवाइयों को मरीजों तक पहुंचा रहे हैं। प्रदेश के कोटद्वार में गुरुवार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक नकली रेमडेसिविर बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने नकली रेमेडेसिविर इंजेक्शन बनाने और उन्हें बेचने वाले गैंग के 5 लोगों को कोटद्वार उत्तराखंड से गिरफ्तार किया। 
दिल्ली क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि उत्तराखंड के कोटद्वार में नकली इंजेक्शन बनाने वाली फैक्ट्री चल रही है। जिसके बाद उन्होंने छापेमारी करवाई की और गैंग के पांच सदस्यों को भी गिरफ्तार किया। यह गिरोह उत्तराखंड के हरिद्वार, रुड़की और कोटद्वार में अवैध फैक्टरियोें में नकली रेमडेसिविर का उत्पादन करता है।
कोटद्वार की इस फैक्ट्री में छापा मारकर यहां से नकली इंजेक्शन, पैकिंग डिब्बे और मशीन बरामद की गई है। मामले में पौड़ी जिले के कोटद्वार में दिल्ली क्राइम ब्रांच और उत्तराखंड पुलिस की टीम छानबीन में जुट गई है। पता लगा है कि पुलिस को यह नकली रेमडेसिविर कहीं और से बरामद हुआ है। जिस पर कोटद्वार की उक्त फैक्टरी का नाम लिखा हुआ है।
पुलिस ने बताया कि यह लोग एक इंजेक्शन को 25 हजार रुपये में बेचते थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से रेमडेसिविर के 196 नकली इंजेक्शन बरामद किए हैं। वहीं तीन हजार खाली वायल्स भी पुलिस को मिली है। आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वे अब तक कोरोना मरीजों को दो हजार से अधिक रेमडेसिविर के नकली इंजेक्शन बेच चुके हैं। पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।

अब तक बेची दो हजार से ज्यादा नकली इंजेक्शन 
जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की एक स्पेशल टीम ने उत्तराखंड के कोटद्वार में एक दवा फैक्ट्री पर छापा मारा। यहां 196 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद किए गए। पुलिस ने बताया है कि पूछताछ में आरोपियों ने खुलासा किया कि वो अब तक दो हजार से ज्यादा लोगों को नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेच चुके हैं। पुलिस का कहना है कि आरोपियों से ये जानकारी निकालने की कोशिश हो रही है कि उनके साथ और कौन शामिल है और अभी तक इन्होंने ये नकली इंजेक्शन कहां-कहां बेचे हैं।

4294

0 comment

एक टिप्पणी छोड़ें