होम / पोस्ट

अनामिका बिष्ट ने यूरोप की सबसे ऊंची चोटी एलब्रुस पर किया फतह, हैं उत्तरकाशी की युवा पर्वतारोही

उत्तरकाशी : उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के बरसाली गांव की की युवा पर्वतारोही अनामिका बिष्ट ने यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी एलब्रुस (5642 मीटर) का बीती सप्ताह सफल आरोहण और तिरंगा फहराया है। ऐसा करने वाली वह उत्तरकाशी की पहली पर्वतारोही बनी हैं। वह आरोहण करने वाली टीम की टीम लीडर थी। उन के साथ दो अन्य लोगों ने भी यूरोप की सबसे ऊंची चोटी का आरोहण किया है। सफल आरोहण के बाद जिलाधिकारी मयूर दीक्षित यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत समेत कई लोगों ने अनामिका बिष्ट को बधाई दी है।


अनामिका बिष्ट ने बताया कि मंगलवार को यूरोप के समयानुसार सुबह 10 बजे वह लेफ्टिनेंट कर्नल रोमिल और बेंगलुरु की गायत्री के साथ इस चोटी पर चढ़ी। इस दौरान उन्होंने माइनस 20 डिग्री का तापमान का सामना किया। गत 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर उत्तरकाशी से यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत, डीएम मयूर दीक्षित, नेहरू पर्वतारोहण संस्थान के अधिकारियों ने उन्हें इस अभियान के लिए फ्लैग ऑफ किया था। 19 अगस्त को उन्होंने 7 सदस्य टीम के साथ मॉस्को से अभियान शुरु किया। उन्होंने 24 अगस्त को चोटी फतह की।


अनामिका ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने पिता अनिल बिष्ट सहित मां विजयलक्ष्मी बिष्ट और नेहरू पर्वतारोहण संस्थान को दिया है। अनामिका बिष्ट ने बताया कि इसके बाद वो अब अर्जेंटीना की सबसे ऊंची चोटी माउंट एकोंगा (6961 मीटर) के आरोहण की तैयारी कर रही हैं।

5981

0 comment

एक टिप्पणी छोड़ें