होम / पोस्ट

उत्तराखंड के बेरोजगार युवाओं को उपनल के माध्यम से मिलेगा रोजगार, व्यवस्था की बढ़ी तारीख, जारी हुए आदेश

देहरादूनः कोरोना काल की दूसरी लहर में उत्तराखंड सरकार ने प्रवासी युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने की पहल की है। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी की पहल पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने प्रदेश के युवाओं के लिए एक राहत का फैसला लिया है। दरअसल, वर्तमान समय में विकराल रूप ले रही कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत राज्य सरकार द्वारा फैसला लिया गया है कि पूर्व की भांति राज्य में लौट रहे प्रवासी उत्तराखण्ड वासियों को उनके अनुभव/योग्यता/कौशल के अनुसार उनके निवास स्थान के नजदीक, उत्तराखण्ड पूर्व सैनिक कल्याण निगम लि0 (उपनल) के माध्यम से रोजगार अवसर प्रदान करने हेतु पूर्व में व्यवस्था को एक और साल (31 मार्च 2022 तक) बढ़ा दिया गया है।


कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने बताया कि ‘‘वर्तमान महामारी के समय में राज्य के युवाओं को रोजगार अवसर उपलब्ध करवाने के बारे में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत अत्यधित संवेदनशील तथा सक्रिय हैं। वह स्वयं इस मामले को संज्ञापित कर रहे हैं। मुझे अत्यधिक प्रसन्नता है कि कोविड महामारी के ऐसे विपरीत समय में बेरोजगारों के लिए उपनल के माध्यम से रोजगार अवसर उपलब्ध करवाने के विभागीय प्रस्ताव को मुख्यमंत्री द्वारा अनुमोदन एवं स्वीकृति प्रदान की गई है।’’
ज्ञात हो कि पूर्व में दिनांक 16 सितम्बर 2020 को जारी शासनादेश के माध्यम से 31 मार्च 2021 तक पंजीकृत अभ्यर्थियों को उपनल के माध्यम से रोजगार अवसर उपलब्ध करवाए जाने की व्यवस्था की गई थी।
सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी द्वारा वर्तमान समय में कोविड19 महामारी के विकराल रुप को देखते हुए इस व्यवस्था को आगामी 31 मार्च 2022 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। इससे राज्य के बेरोजगारों को ‘‘उत्तराखण्ड पूर्व सैनिक कल्याण निगम लि0’’ (उपनल) के माध्यम से उनके अनुभव/योग्यता/कौशल के अनुसार उनके निवास स्थान के नजदीक, रोजगार अवसरों का लाभ प्राप्त होगा।

5749

0 comment

एक टिप्पणी छोड़ें