होम / पोस्ट

कैबिनेट मंत्री और चमोली जनपद के प्रभारी मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने राहत शिविरों का लिया जायजा

देहरादून – सूबे के कैबिनेट मंत्री और चमोली जनपद के प्रभारी मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने अपने सभी कार्यक्रमों को रद्द कर जोशीमठ में मोर्चा सम्भाल लिया है। जोशीमठ पहुंचते ही उन्होंने सबसे पहले राहत शिविरों का दौरा किया और वहां रह रहे पीड़ितों का हाल-चाल जाना। उन्होंने भू-धंसाव से प्रभावित सभी लोगों को आश्वस्त किया कि सरकार हर कदम पर उनके साथ है। डॉ0 रावत ने भू-धंसाव वाले विभिन्न क्षेत्रों में जाकर स्थलीय निरीक्षण कर स्थानीय प्रशासन व राहत कार्यों में जुटे अधिकारियों की बैठक ली, जिसमें उन्होंने अधिकारियों को प्रभावितों के रहने की समुचित व्यवस्था करने व राहत कार्यों में और तेजी लाने के निर्देश दिये।भू-धंसाव से पीड़ित लोगों के बीच जोशीमठ पहुंचे कैबिनेट मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने मीडिया को जारी एक बयान में बताया कि सरकार हर मोर्च पर भू-धंसाव से प्रभावित लोगों के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि जोशीमठ नगर क्षेत्र में हो रहे भू-धंसाव एवं भूस्खलन को देखते हुये सरकार द्वारा लगातार राहत एवं बचाव कार्यों के साथ ही स्थायी/अस्थायी पुनर्वास से सम्बन्धित कार्य किये जा रहे हैं। जिसके लिये स्थानीय प्रशासन के साथ-साथ एनडीआरएफ की 02 टुकड़ी जबकि एसडीआरएफ की 08 टुकड़ियां जोशीमठ में तैनात की गई है। इसके अलावा किसी भी आपात स्थित के लिये सेना व आईटीबीपी के हैलीकॉप्टर तैनात किए गए है।

डॉ0 रावत ने बताया कि फिलहाल उन्होंने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिये हैं। वह जोशीमठ में रहकर राहत व पुनर्वास कार्यों की निगरानी करेंगे। प्रभारी मंत्री डॉ0 रावत ने शुक्रवार सुबह युवा रेडक्रास सोसाइटी का दौरा किया, जहां उन्होंने सोसाइटी द्वारा किये जा रहे राहत कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने यूथ रेडक्रास को जिला प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर काम करने के निर्देश दिये। इसके उपरांत डॉ0 रावत ने जिला प्रशासन सहित राहत कार्यों में जुटे अधिकारियों की बैठक ली, जिसमें उन्होंने अधिकारियों से राहत व पुनर्वास संबंधी कार्यों की तमाम जानकारियां ली। उन्होंने आपदा की संवेदनशीतला को देखते हुये जिला प्रशासन को अलर्ट मोड पर रहने को कहा, साथ ही उन्होंने अधिकारियों को राहत व पुनर्वास कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतने की भी हिदायत दी। डॉ0 रावत ने बताया कि मामले की संवदेनशीलता को देखते हुये जोशीमठ में मेडिकल टीमें तैनात की गई है। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पीड़ित परिवारों के रूटीन चैकअप के भी निर्देश दिये गये हैं। डॉ0 रावत ने शुक्रवार को एक-एक राहत शिविर में पहुंचकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं को सुना, साथ ही उन्होंने भू-धंसाव से प्रभावित लोगों को राहत राशि के चैक वितरित किये। इस दौरान उनके साथ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र भट्ट और जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद रहे।

5994

0 comment

एक टिप्पणी छोड़ें